Paryavaran par poem - Gyan Adda

Breaking

A Family of Learning

रविवार, 26 अप्रैल 2020

Paryavaran par poem

            पर्यावरण पर कविता

हेलो दोस्तों मेरे ब्लॉग में आप सब का स्वागत है। आज मैं फिर से आप सबों के लिए एक नया कविता लेकर आया हूं जिसको मैंने सही लिखा है। हमें लगा कि यह कविता आप लोगों के साथ शेयर करना चाहिए इसके लिए हमने लगातार मेहनत की और अब जाकर यह कविता आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूं । जैसे क्या आपको टाइटल से पता चल गया होगा कि यह कविता पर्यावरण पर है। इसमें मैंने बताया हूं कि हमें अपने पर्यावरण की सुरक्षा किस प्रकार करनी चाहिए जिसे मैंने कविता के माध्यम से प्रस्तुत किया हूं। 

सारी धरती करे पुकार,
पर्यावरण में करो सुधार।
यह है हमारी धरोहर,
इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।
पर्यावरण पर कविता हिंदी में
पर्यावरण


                               कूड़ा -कचरा कहीं मत फेको,  
                                 कूड़ेदान में ही हमेशा फेको।
      ‌‌‌‌‌‌‌‌‌                           पर्यावरण को स्वच्छ बनाएं,
                    ‌         इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।
पर्यावरण पर कविता हिंदी में
पर्यावरण


नए-नए पेड़ -पौधे लगाओ,
फल -फलों के बाग लगाओ।
वातावरण को दिव्य बनाओ,
इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।


                            आओ मिलकर करें संकल्प,
                           पर्यावरण को मिलकर करें सुधार।
                          ‌‌‌  इससे बड़ा नहीं कोई योगदान,
                            इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।

भावार्थ:- 

इस कविता के माध्यम से मैंने आप सबों को यह समझाने का प्रयास किया है कि हमें अपने पर्यावरण की सुरक्षा किस प्रकार करनी चाहिए। हमारी धरती हमें पुकारती है कि हम अपने पर्यावरण में सुधार करे। यह हमारी धरोहर है इसकी रक्षा करना हमारा दायित्व है। मैंने आपको बताया क्योंकि कूड़ा कचरा हमें कहीं पर नहीं फेंकना चाहिए इसे सही स्थान पर ही फेंके ताकि हमारा पर्यावरण स्वच्छ बना रहे। हमें ज्यादा से ज्यादा फल फूलों के बाग लगाना चाहिए। आज से ही हम संकल्प ले की अपने पर्यावरण की सुरक्षा में अपना योगदान देंगे।

हमारा यह पोस्ट आपको कैसा लगा अगर अच्छा लगा तो लाइक और शेयर कीजिए।
अधिक जानकारी के लिए कमेंट करें। धन्यवाद
           
          By- Santosh Sharma

            पर्यावरण पर कविता

हेलो दोस्तों मेरे ब्लॉग में आप सब का स्वागत है। आज मैं फिर से आप सबों के लिए एक नया कविता लेकर आया हूं जिसको मैंने सही लिखा है। हमें लगा कि यह कविता आप लोगों के साथ शेयर करना चाहिए इसके लिए हमने लगातार मेहनत की और अब जाकर यह कविता आपके सामने प्रस्तुत कर रहा हूं । जैसे क्या आपको टाइटल से पता चल गया होगा कि यह कविता पर्यावरण पर है। इसमें मैंने बताया हूं कि हमें अपने पर्यावरण की सुरक्षा किस प्रकार करनी चाहिए जिसे मैंने कविता के माध्यम से प्रस्तुत किया हूं। 

सारी धरती करे पुकार,
पर्यावरण में करो सुधार।
यह है हमारी धरोहर,
इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।
पर्यावरण पर कविता हिंदी में
पर्यावरण


                               कूड़ा -कचरा कहीं मत फेको,  
                                 कूड़ेदान में ही हमेशा फेको।
      ‌‌‌‌‌‌‌‌‌                           पर्यावरण को स्वच्छ बनाएं,
                    ‌         इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।
पर्यावरण पर कविता हिंदी में
पर्यावरण


नए-नए पेड़ -पौधे लगाओ,
फल -फलों के बाग लगाओ।
वातावरण को दिव्य बनाओ,
इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।


                            आओ मिलकर करें संकल्प,
                           पर्यावरण को मिलकर करें सुधार।
                          ‌‌‌  इससे बड़ा नहीं कोई योगदान,
                            इसकी निगरानी कर्तव्य हमारा।।

भावार्थ:- 

इस कविता के माध्यम से मैंने आप सबों को यह समझाने का प्रयास किया है कि हमें अपने पर्यावरण की सुरक्षा किस प्रकार करनी चाहिए। हमारी धरती हमें पुकारती है कि हम अपने पर्यावरण में सुधार करे। यह हमारी धरोहर है इसकी रक्षा करना हमारा दायित्व है। मैंने आपको बताया क्योंकि कूड़ा कचरा हमें कहीं पर नहीं फेंकना चाहिए इसे सही स्थान पर ही फेंके ताकि हमारा पर्यावरण स्वच्छ बना रहे। हमें ज्यादा से ज्यादा फल फूलों के बाग लगाना चाहिए। आज से ही हम संकल्प ले की अपने पर्यावरण की सुरक्षा में अपना योगदान देंगे।

हमारा यह पोस्ट आपको कैसा लगा अगर अच्छा लगा तो लाइक और शेयर कीजिए।
अधिक जानकारी के लिए कमेंट करें। धन्यवाद
           
          By- Santosh Sharma

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अधिक जानकारी के लिए कमेंट करें